Ha ye mere shabd h…..

जोश से भर देते है मुझे,जब कभी म टूटती हूँ,

हा ये मेरे शब्द है,

उम्मीदे भरते है मुजमे, जब कभी मैं निराश हूँ,

हा ये मेरे शब्द है,

हिम्मत भरते है मुजमे, जब कभी मैं हताश हूँ,

हा ये मेरे शब्द है,

ज़िन्दगी भरते है मुजमे, जब कभी मैं उदास हु,

हा ये मेरे शब्द है ।।

Published by

Poonam

I am a writer who connect her words with dreams, hope and happiness and this connect my words to life.

6 thoughts on “Ha ye mere shabd h…..”

Leave a Reply