ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी है जिन्हें व्यापक रूप से खेल के इतिहास में सबसे महान गेंदबाजों में से एक माना जाता है। 1992 में शेन वॉर्न ने अपना पहला टेस्ट मैच खेला था

क्रिकेट के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से एक शेन वार्न का 52 साल की महज उम्र में 4 मार्च 2022 के दिन थाईलैंड में छुट्टी के दौरान दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

शेन वार्न दिग्गज ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट हैं, जिन्होंने 1999 में अपने देश को विश्व कप जीतने में मदद की। शेन वार्न को Wisden’s Five Cricketers of the Century से एक नामित किया गया था

उन्होंने साल 1992 से साल 2007 के बीच ऑस्ट्रेलिया के लिए 15 साल के करियर में 708 टेस्ट विकेट लिए।

शेन वॉर्न का जन्म 13 सितंबर 1969 में विक्टोरिया,ऑस्ट्रेलिया में हुआ था। शेन वॉर्न के पिता का नाम कीथ वॉर्नऔर माता का नाम ब्रिजेट वॉर्न था। उनका एक भाई है जिसका नाम जैसन वॉर्न है।

शेन वॉर्न ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा हैम्पटन हाई स्कूल और मेंटोन ग्रामर स्कूल, मेलबर्न से पूरी की। इसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न से अपनी ग्रेजुएशन पूरी की।

शेन वार्न ने क्रिकेट जगत में अपना डेब्यू 2 जनवरी साल 1992 में भारत के खिलाफ सिडनी में किया था। उन्होंने अपने पुरे टेस्ट क्रिकट कैरियर के दरमियान 708 विकेट ली और 194 ODI मैच में उन्होंने 293 विकेट लिए और 3000 से ज्यादा रन बनाए।

वो क्रिकेट में बॉलिंग और बैटिंग सभी फॉर्मेट में माहिर थे। आपकी जानकरी के लिए बता दें कि वह एक मात्र ऐसे खिलाडी है, जो अपने क्रिकेट करियर के दरमियान कभी शतक नहीं बना पाए।

अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में उन्होंने टोटल 145 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 708 विकट लिए थे। विकेट लेने के मामले में उनका श्रीलंका के स्पिनर मुथैया मुरलीधरन (800) के बाद दूसरे स्थान पर है।