Why is fire put out with water?

A fire occurs when the combustible material comes into contact with enough oxygen in the presence of sufficient heat to enable the chain reaction to run smoothly. The absence of any one of these cannot cause fire. If a fire burns once, that is, a chain reaction is started, it continues to burn and spread as long as the presence of oxygen and combustible material is there.

The fire can be extinguished by separating the oxygen and the fuel. If enough water is sprayed on the fire, the fuel is hindered in the presence of oxygen and the fire is extinguished. The use of carbon-dioxide on the fire can also extinguish the fire. For extinguishing forest fires, the fuel supply is cut off by generating small flames away from the main flame.

दहनशील पदार्थ पर्याप्त ऑक्सीजन की उपस्थिति में जब पर्याप्त उष्मा, जो श्रृंखलाबद्ध प्रतिक्रिया को सुचारू रूप से चलाने में सक्षम हो, संपर्क में आता है, तो आग पैदा होती है। इनमें से किसी एक की अनुपस्थिति से आग पैदा नहीं हो सकती है। अगर आग एकबार जल जाती है यानी श्रृंखलाबद्ध प्रतिक्रिया शुरू हो जाती है तो जब तक ऑक्सीजन और दहनशील पदार्थ की उपस्थिति रहती है तब तक वह जलती और फैलती रहती है। आग को ऑक्सीजन और ईंधन में से किसी एक को अलग कर बुझाया जा सकता है। आग पर पानी की पर्याप्त बौछार पड़ती है तो ईंधन को ऑक्सीजन की उपस्थिति में बाधा पड़ती है और आग बुझ जाती है। आग पर कार्बन-डाइऑक्साइड के प्रयोग से भी आग बुझाई जा सकती है। जंगल की आग बुझाने के लिए मुख्य ज्वाला से दूर छोटी छोटी ज्वाला पैदा कर ईंधन की आपूर्ति बंद की जाती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top