You are here
Home > fact > Why the spider doesn’t stick to its own web?

Why the spider doesn’t stick to its own web?

spider

Why the spider doesn’t stick to its own web


The spider weaves a web to trap its prey. Small insects get easily caught in this trap. It is very difficult to get rid of these insects. But if you have ever looked closely, you must have found that the spider itself moves easily from one place to another in that web. Do you know why this happens?

The entire spider web is not made of adhesives. She weaves only part of it sticky. At the same time, apart from this, the part where the spider itself lives comfortably, it is made without sticky material.So she easily moves around in it. By the way, to avoid getting trapped in its own web, the spider comes up with another trick. She cleans her feet very well every day so that the dust and other particles on them are removed.

Some scientists believe that the spider’s leg is oily so it does not get caught in the web and keeps moving around in it. But the truth is that spiders do not have oil glands. At the same time, some scientists attribute this to the hair present on the legs of the spider, which is not affected by the viscosity of the web.

 

मकड़ी अपने शिकार को फंसाने के लिए जाल बुनती है। छोटे-छोटे कीड़े इस जाल में आसानी से फंस जाते हैं। इन कीड़ों का जाल से निकलना काफी मुश्किल होता है। लेकिन आपने कभी गौर से देखा होगा तो पाया होगा कि मकड़ी खुद उस जाल में एक-जगह से दूसरे जगह आसानी से घूम लेती है। क्या आपको पता है कि ऐसा क्यों होता है?

मकड़ी का पूरा जाल चिपकने वाले नहीं होता है। वह इसका कुछ ही हिस्सा चिपचिपा बुनती है। वहीं, इसके अलावा वैसा हिस्सा जहां मकड़ी खुद आराम से रहती है, वह बिना चिपचिपे पदार्थ के बनाया जाता है।

इसलिए वह आसानी से इसमें घूम लेती है। वैसे अपने ही जाल में फंसने से बचने के लिए मकड़ी एक और तरकीब निकालती है। वह रोजाना अपने पैर काफी अच्छे से साफ करती है ताकि इन पर लगी धूल और दूसरे कण निकल जाएं।

कुछ वैज्ञानिक मानते हैं कि मकड़ी का पैर तैलीय होता है इसलिए वह जाल में नहीं फंसती और इसमें घूमती रहती है। लेकिन सच यह है कि मकड़ियों के पास ऑयल ग्लैंड्स (ग्रंथियां) नहीं होते हैं। वहीं कुछ वैज्ञानिक इसकी वजह मकड़ी की टांगों पर मौजूद बालों को मानते हैं जिन पर जाले की चिपचिपाहट का कोई असर नहीं होता है।

2 thoughts on “Why the spider doesn’t stick to its own web?

Leave a Reply

Top